हरियाणा(रुद्रा राजेश सिंह कुंडू) – आज के समय में खानपान ऐसा हो गया है की लोग छोटी उम्र में ही बीमारियों के शिकार हो जाते हैं। ऐसे ही डायबिटीज ने अब युवा पीढ़ी को अपने चपेट में ले लिया है। शुगर और बीपी जैसी बीमारियों को साइलेंट किलर के नाम से जाना जाता है। यदि आप भी शुगर से ग्रस्त हैं तो आपको इस बीमारी पर बारीकी से नजर रखना भी बहुत जरूरी है। शरीर में शुगर लेवल को नियंत्रित रखने के लिए डॉक्टर आमतौर पर एक्सरसाइज या हल्दी लाइफ स्टाइल अपनाने की सलाह देते हैं।

शुगर को कई तरह के इंसुलिन और दवाओं से कंट्रोल किया जा सकता है लेकिन इनमें मरीज की डाइट का बेहद महत्वपूर्ण रोल है। यदि आप शुगर से ग्रसित है तो आपको शुगर और हाई कार्बोहाइड्रेट वाली चीजें खाने से परहेज करना चाहिए।

शुगर को कंट्रोल रखने वाली चीजें…

सेब – एक्सपर्ट्स का मानना है कुछ फलों के छिलके में फाइबर अधिक होता है। इनमें से सेब भी है जो शुगर के मरीजों के लिए लाभदायक माना जाता है। इसमें पाया जाने वाला फाइबर शरीर में ब्लड शुगर लेवल को बढ़ने से रोकता है। सेब का पीनट बटर या अखरोट के बटर के साथ सेवन ग्लूकोस लेवल को बैलेंस करता है।

लहसुन – टाइप 2 डायबिटीज के मामले में लहसुन को एक सीक्रेट हथियार के रूप में जाना जाता है। एक शोध के मुताबिक लहसुन शरीर में ब्लड शुगर लेवल को तेजी से बढ़ने से रोकता है। साथ ही यह उन सब्जियों का स्वाद भी बढ़ाता है जिन्हें आमतौर पर आप खाने से बचते रहते हैं।

बीन्स – फलीदार सब्जियों में कार्बोहाइड्रेट होता है लेकिन इनमें फाइबर और प्रोटीन की भी ज्यादा मात्रा रहती है। एक शोध के मुताबिक रोजाना डाइट में एक कप फलीदार सब्जियों को शामिल करने वाले लोगों के ब्लड शुगर लेवल में एक कप साबुत गेहूं का सेवन करने वालों की तुलना में ज्यादा सुधार देखा गया है।

ओलिव ऑयल- ओलिव ऑयल में मोनोअनसैचुरेटेड फैटी एसिड की मात्रा होती है। एक स्टडी के अनुसार ओलिव ऑयल शरीर में ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित रखने में सहायक है। आप इसमें सब्जियां बना सकते हैं।

पत्तेदार सब्जियां – अपनी डाइट में पालक केल और कोलार्ड ग्रीन जैसी खाने की चीजों को शामिल करना चाहिए। ये नॉन स्टार्च वाली सब्जियां कम कैलरी में ही शरीर को भरपूर फाइबर देती है। स्टार्च वाली सब्जियों के मुकाबले इन में कार्बोहाइड्रेट की मात्रा कम पाई जाती है।

शुगर में इन चीजों से करना चाहिए परहेज…

गोभी – सफेद चावल की तरह गोभी एक हाई कार्बोहाइड्रेट सब्जी है। एक कप कटी हुई गोभी में सिर्फ 2 ग्राम प्रोटीन और 2 ग्राम फाइबर पाया जाता है। जबकि 5 ग्राम कार्बोहाइड्रेट शामिल होता है। शुगर लेवल कंट्रोल रखने वालों को इससे दूर रहना चाहिए।

अंडा – अंडा शरीर को लीन प्रोटीन देने वाली चीजों की लिस्ट में आता है। अंडे का इसका सेवन भी जरूरी है। एक शोध के मुताबिक रोजाना एक अंडा खाने से डायबिटीज की बीमारी का खतरा बढ़ जाता है। ब्रिटिश जर्नल ऑफ न्यूट्रीशन में प्रकाशित एक रिपोर्ट में भी दावा किया गया है रोजाना एक या एक से ज्यादा अंडे खाने से डायबिटीज का खतरा 60% बढ़ जाता है।

एवोकाडो – ब्रेकफास्ट में एवोकाडो की जगह समान कैलोरी वाली किसी दूसरे कार्बोहाइड्रेट रिच फूड का सेवन ब्लड ग्लूकोस लेवल को बेहतर कर सकता है। एक शोध के मुताबिक हेल्दी फैट्स से भरपूर एवोकाडो में ज्यादा कैलोरी होती है। आसानी से जाने की वजह से यह फैट का एक बड़ा सॉर्स बन जाता है। लोग इसका सिर्फ एक स्लाईस खाकर संतुष्ट नहीं होते हैं।

 

Share this post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *