दिल्ली(अरुण शर्मा) – सोशल मीडिया में टमाटर पूरी तरह से छाया हुआ है। टमाटर के बढ़ते दाम एक चर्चा का विषय बना हुआ है। लोग तरह तरह के मीम्स बनाकर सोशल मीडिया पर पोस्ट कर रहे हैं। खास बात यह है कि एक अच्छा रिस्पोंस भी देखने को मिल रहा है। यहीं नहीं टमाटर के बढ़ते दामों की तुलना अब पेट्रोल से की जा रही है। जानकारी के मुताबिक चेन्नई की कोयम्बेडु की थोक सब्जी मंडी में टमाटर के दाम 120 रुपये और शहर भर में खुदरा बजारों में इसकी कीमत 150 रुपये किलो तक पहुंच गई है। अब आप सभी के मन में ये सवाल उठ रहा होगा कि सर्दियों के समय में तो टमाटर बहुत सस्ता मिलता है तो इस बार टमाटर के दाम इतने क्यों बढ़ रहे हैं?

चलिए जानते है आखिर क्यों टमाटर इतना महंगा हो गया है?

बता दें कि इस बार टमाटर के दाम बढ़ने की वजह है बारिश। दरअसल बेमौसम की बरसात ने टमाटर की फसल को खराब कर दिया था जिसकी वजह से किसानों को भारी नुकसान भी भुगता पड़ रहा है। जिस वजह से टमाटर के दाम आसमान छू रहे हैं। दक्षिण भारत में मौसम की मार टमाटर की फसल पर ज्यादा पड़ी है। कर्नाटक, आंध्रप्रदेश, और तमिलनाडू के कृष्णागिरी के कई हिस्सों में भारी बारिश के वजह से टमाटर की पूरी फसल बर्बाद हो गई। आमतौर पर सर्दियों में टमाटर की एक क्रेट 300 रुपये की बिकती है। एक क्रेट में 25 किलो टमाटर होते हैं। ताजा हालात के मुताबिक दिल्ली-एनसीआर से सटे इलाकों में टमाटर की एक क्रेट एक हजार रुपये से लेकर 1400 रुपये तक बिक रही है। इसके अलावा खाद्यय पदार्थों के दामों में भी काफी बढ़ोतरी देखने को मिल रही है।

Share this post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *