चंडीगढ़(सुमन सैनी) – मंडी बचाओ, किसान बचाओ रैली से पहले किसान नेताओं की गैरकानूनी तरीके से धरपकड़ पर राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी रणदीप सिंह सुरजेवाला ने गठबंधन सरकार पर निशाना साधा है। सुरजेवाला ने सरकार की रैली को विफल करने की योजना की कड़ी निंदा करते हुए कहा कि खट्टर सरकार जान ले की हरियाणवी डरने वाले नहीं है। भाजपा-जजपा को खुली चुनौती देते हुए सुरजेवाला ने कहा कि हम मोदी-खट्टर सरकारों के ख़िलाफ़ ज़ोर-शोर से लड़ेंगे।

उन्होंने कहा कि पीपली मंडी, कुरुक्षेत्र को पुलिस छावनी में तबदील कर दिया गया है। सभी आढ़ती भाईयों को दुकान बंद करने के नोटिस दिए जा रहे हैं। खट्टर-चौटाला सरकार जान लें की तीनों अध्यादेशों के ख़िलाफ़ हम मिल कर निर्णायक लड़ाई लड़ेंगे।

सुरजेवाला ने कहा कि आज एक बार फिर खट्टर सरकार ने अपना जाबर-जालिम असली चेहरा दिखा ही दिया। तीन अध्यादेश से मंडी, व्यापारी, आढ़ती और किसान खत्म हो जाएंगे। किसान यूनियन के प्रधान गुरनाम सिंह चढूनी के घर पर नोटिस लगा दिया गया। इसी प्रकार जींद जिले के जिले सिंह दनौदा की गिरफ्तारी के लिए पुलिस उनके घर पर रेड की गयी, हिसार जिले के अंदर विकास सीसर के घर पर नोटिस चिपकाया गया है। यमुनानगर जिले के किसान यूनियन के नेता हरपाल सिंह का सुबह से कोई अता-पता नहीं है।

मुख्यमंत्री को सम्बोधित करते हुए उन्होंने कहा की खट्टर साहब, इस कायरतापूर्ण कार्यवाही का कारण क्या है? क्या आप ‘किसान बचाओ, मंडी बचाओ’ रैली को इस ज़बरन और ज़ालिम तरीके से रोकना चाहते हैं ? उन्होंने कहा की अगर हरियाणा की भाजपा-जजपा सरकार ने किसान और आड़ती की ज़बान दबाने की 10 तारीख को कुरुक्षेत्र में कोशिश की, तो इसके गंभीर परिणाम सरकार को भुगतने पड़ेंगे और हरियाणा का किसान, आढ़ती और मजदूर इस ज़ाबर और ज़ालिम तरीकों का मुंहतोड़ जवाब देगा। उन्होंने कहा की अब भी चेत जाइए, वरना सरकार को नेस्तनाबूत करने के लिए हरियाणा के लोग मजबूर हो जाएंगे।

Share this post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *